मेरी बहन है सनी लियोनी से भी ज्यादा सेक्सी चुदक्कड़-2

(Meri Behan Hai Sunny Leone Se Jyada Sexy Chudakkad- Part 2)

2017-06-04

प्रिय दोस्तो, आपने मेरी कहानी

के पहले भाग में पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी बहन भूमिका की सील तोड़ी। अब कहानी उसके आगे की पेश कर रहा हूँ।

भूमिका की सील तोड़ने के बाद अब हमारी हवस और भी बढ़ गई थी, जब भी मौका मिले, हम एक दूसरे से चिपक जाते थे। डर भी लगता था कि कोई देख ना ले!
कभी मैं भूमिका का गाउन उठाकर उसकी चूत चाटने लगता था.. तो कभी भूमिका मेरे बॉक्सर को नीचे करके मेरा लंड चूसने लगती थी। हम अक्सर क्विक सेशन वाला सेक्स किया करते थे ताकि घर में किसी को शक ना हो1
अक्सर हम सीढ़ियों में ऊपर छत जाने के पहले बने बरामदे में सेक्स किया करते थे, मैं भूमिका का गाउन उठाकर पीछे से चोदा करता था।

एक दिन जब घर वाले किसी शादी में गये हुए थे तब मैं और मेरी बहन भूमिका ने साथ नहाते हुए सेक्स किया फिर थककर आकर बिस्तर पर लेट गए। मैं नीचे लेटा था और भूमिका मेरे ऊपर… वो अपनी जीभ से मेरे निप्पल से खेल रही थी और मैं अपने दोनों हाथों से उसके नितम्ब मसल रहा था।

मैंने उससे कहा- भूमि… हम लोग ज्यादातर हर सेक्स पोजीशन ट्राय कर चुके हैं.. फिर भी तेरी और कोई फंतासी हो तो बता.. मैं पूरा करूँगा।
भूमि ने कहा- भाई.. है तो एक फंतासी मेरे दिमाग में… पर तू पूरा नहीं कर पायेगा..
‘क्यों चुदक्कड़… ऐसी क्या चीज़ है जो मैं पूरा नहींकर पाऊँगा.. बता जरा?’
‘भाई एक्चुअली ना.. मुझे 4-5 लड़कों से एक साथ चुदना है..’

‘क्यों री रांड, क्या मैं तेरी हवस बुझा नहीं पाता?’
‘नहीं नहीं.. ऐसा मैं नहीं बोल रही पर मेरी फंतासी है कि 4-5 लोग मेरा जिस्म गर्म करें।’
‘हम्म… ठीक है.. मैं कुछ जुगाड़ करता हूँ।’
‘भाई, तेरे कुछ दोस्त मुझे गंदी नज़र से देखते हैं, उन्हीं से बात करना!’

‘अच्छा कौन दोस्त?’
‘वो तेरा बेस्ट फ्रेंड रोहित.. वो हमेशा मेरे बूब्स को देखता रहता है… वो साहिल.. उसको तो जब मौका मिले मेरी चूत चाटने लगे.. और वो विकास तो मेरी गांड से आँख नहीं हटाता… और..’
“अरे बस कर बहन, ऐसे तो पूरा मोहल्ला आ जायेगा… तेरे गदराए बदन को कौन नहीं चोदना चाहता। ठीक है, मैं एक प्लान बना के तीनों को घर ले आऊंगा और तू वैसे ही करना जैसा मैं बोलूं! ‘ओके भाई, अपनी फंतासी गैंगबैंग के लिए तो मैं कुछ भी करूँगी।’
‘हाँ चुदक्कड़… करेगी ही तू!’

अब मैं प्लान बनाने लगा कि कैसे इन तीनों को गैंगबैंग के लिए घर बुलाऊँ।
शाम को हम जब भी सिगरेट पीने मिलते, मैं तीनों को भूमिका की नंगी फ़ोटो दिखाता जिसमें उसका चेहरा नहीं दिखता था।

मैंने एक झूठी कहानी बनाई और अपने दोस्तों को सुनाई: भूमिका मेरी सौतेली बहन है.. मैं अंदर ही अंदर उससे नफरत करता हूँ, मेरा बस चले तो उसको चोद भी दूँ.. और साली चरकट भी है.. जब देखो मेरे लंड को घूरती रहती है..

यह सुनकर तीनों के चेहरे चमक गए.. रोहित बोला- भाई तो चोद दे ना.. इतना बेहतरीन माल है तेरे घर में.. कसम से मेरी भी गंदी नज़र है उस पर…
साहिल बोला- चूतिये, अभी तक कुछ किया क्यों नहीं.. मैं होता तो चूत चाट लेता।
विकास ने कहा- भाई भूमि की गांड देखी है.. कसम से सन्नी लियोनी से ज्यादा गदराई गांड है उसकी…

मैंने कहा- हरामियो, पहले नहीं बता सकते थे… अच्छा सुनो.. तुम लोगो को भी चोदना है भूमिका को?
सबने कहा- हाँ।
‘तो जैसा मैं बोलता हूं वैसा करना तभी हम लोग भूमि का गैंगबैंग कर पाएंगे.. संडे को मेरे घर वाले बाहर जा रहे हैं शादी में। 2 दिन बाद आएंगे.. तुम लोग रात 8 बजे मेरे घर आना.. और सब अलग अलग फ्लेवर का कंडोम लाना।’

सब चले गए और मैं संडे की प्लानिंग करने लगा, भूमि को भी प्लान समझा दिया कि क्या करना है। संडे को ठीक आठ बजे तीनों ठरकी पहुंच गए मेरे घर.. मैंने उन्हें अंदर बुलाया और सोफे पे बैठाया और आवाज़ दी- भूमि.. पानी ला..
और इन लोगों को आंख मार दी।

भूमि मिनी स्कर्ट और डीप गले का टॉप पहन के आई.. उफ्फ क्या माल लग रही थी मेरी बहन..
उसने पानी की ट्रे उन तीनों के सामने रखी मुस्कुराते हुए… भूमि जैसे ही झुकी उसे डीप नैक वाले टॉप से उसके बूब्स झलकने लगे.. तीनों दोस्तों के चेहरे लाल हो गये..

फिर भूमिका वापस पलटी और उसके हाथ से ट्रे छूट गई और वो ट्रे को उठाने नीचे झुकी तो उसकी मिनी स्कर्ट ऊपर उठ गई और उसकी गदराई गांड और गुलाबी चड्डी दिखने लगी.
मेरे तीनों दोस्तों को पसीना आने लगा।

मैं भूमि को चिल्लाया- ये क्या तरीका है? ढंग से काम करना नहीं आता?
वो बोली- नहीं आता, क्या कर लेगा?
मैंने कहा- क्या कर लूंगा? रुक अभी बताता हूँ!
मैंने रोहित, विकास, साहिल से कहा- पकड़ो इसको, उठा के बैडरूम ले चलो…

रोहित विकास ने भूमिका के पैर पकड़े और मैंने और साहिल ने हाथ… भूमिका नाटक में ‘छोड़ो छोड़ो…’ चिल्लाने लगी.
हमने उसे बैडरूम में बेड पर लेटा दिया.

मैंने अपने दोस्तों से कहा- पहला हक़ मेरा है.. तुम लोगों को जब बुलाऊंगा, तब आना..
मैं बिस्तर में कूद गया और भूमिका और मैं पांच मिनट तक छीना झपटी का नाटक करने लगे, फिर मैं उसकी स्कर्ट के अंदर से भूमि की चूत पर हाथ फेरने लगा और हम दोनों स्मूच करने लगे.
यह देख कर मेरे दोस्तों को ठरक चढ़ गई और तीनों वहीं मुठ मारने लगे.

मैंने इशारे से रोहित को बुलाया और रोहित ने भूमिका के स्कर्ट का हुक खोलकर उसकी गदरायी मांसल जांघों से नीचे उतारा, फिर मैंने भूमिका के ऊपर चढ़कर उसके टॉप को ऊपर किया और उसके बूब्स चूसने और मसलने लगा.
भूमिका कामुक आवाज़ निकलने लगी- आह आह.. हम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… हम्म..

इतने में साहिल ने आकर भूमि की काली चड्डी उतार फेंकी और उसकी गुलाबी फूली हुई रसीली चूत को चाटने लगा.
भूमि सिहरने लगी.. फिर रोहित और विकास भी आ गए अपना लंड लेकर और आजू बाजू खड़े हो गए.
भूमि दोनों के लंड पकड़कर हिलाने लगी और मेरे लंड को चूसने लगी.

इधर साहिल भूमि की चूत चाटकर उसमें उंगली करने लगा.. मैंने साहिल को इशारा किया और वो भूमि के मुँह में लंड देने लगा और मैं भूमि की चिकनी मुलायम चूत में अपना लंड डाल कर चोदने लगा.
रोहित ने साहिल को हटाकर अपना लंड भूमि को दिया और विकास और साहिल भूमि के दूध मसलने लगे।

इधर मैंने अपनी बहन के चूत से लंड निकाल लिया और थोड़ी दूर खड़े होकर भूमि को तीन लोगों से चुदवाते देखने लगा.

विकास ने भूमि को तिरछा लेटा दिया और उसकी गांड में थूक लगाकर अपना लंड घुसाने लगा.. विकास ने कहा- भाई, क्या चिकनी गदराई गांड है तेरी बहन की! मजा आ गया.. मैं बरसों से इसकी गांड मारना चाहता था।
दूसरी तरफ से साहिल ने भूमिका की चूत में अपना लंड डाल दिया और कहा- भाई इतनी मुलायम चूत तो सनी लियोनी की भी नहीं होगी।
उधर रोहित ने भूमि से लंड चुसवाते हुए उसके बूब्स दबाते हुए कहा- क्या रुई जैसे बूब्स है भूमि के..

इधर मैं भूमि का गैंग बैंग देखता रहा… कोई चूत मार रहा है मेरी बहन की.. कोई गांड मार रहा है.. कोई मुँह में दे रहा है.. बूब्स मसल रहा है.. उफ्फ क्या नज़ारा था..

भूमि भी मजा लेकर चुदवाती रही।
यह हिंदी चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

साहिल का लंड जल्दी झड़ गया, फिर रोहित ने मोर्चा संभाला और भूमि के नीचे लेट गया भूमि उसके ऊपर आकर अपनी चुत को उसके लंड में सेट करके लेट गई.
इधर विकास भूमि के ऊपर लेट गया और गांड मारने लगा. भूमि के दोनों छेदों में लंड घुसे था, तीनों सैंडविच लग रहे थे, मैं लगे हाथ वीडियो भी बनाने लगा। भूमि के मुख से आवाजें निकलने लगी- फक मी.. फक मी हार्ड!
विकास का लंड भी झड़ गया और भूमि की गांड से उसका वीर्य रिसने लगा।

अब रोहित भूमि को पलटा कर अकेला चोदने लगा.. थप थप आवाज़ से कमरा गूँजने लगा.. थोड़ी देर में रोहित भी निढाल हो गया..
पर भूमि की चूत की प्यास अभी भी नहीं बुझी थी.. मैंने सामने आकर उसकी कमर को पकड़ के उसे डॉगी स्टाइल में बैठाया.. उफ्फ क्या चौड़े चूतड़ मेरी बहन के.. उसके बीच गुलाबी चूत… मेरी बहन की..
मैं अपना लंड उसमें घुसा कर धीरे धीरे हिलाने लगा.. हर झटके में भूमि की हल्की चीख निकलने लगी- भाईईए…

मैं काफी देर तक चोदता रहा.. फिर भूमि को चरम प्राप्त हो गया और उसका चूतरस निकलने लगा जिसे मैंने चाट कर देखा और बाकी दोस्तों को भी चटवाया।

अब हम पांचों बिस्तर पर नंगे लेट गए, कोई भूमि की चूत पर हाथ रख कर कोई बूब्स पर, कोई गांड में..
मैंने इस लम्हे को सेल्फी स्टिक से फ़ोटो खींचकर कैद कर लिया।

क्या सुकून मिल रहा था आज अपनी बहन की फंतासी पूरी करने का.. पर एक डर भी था कि कहीं मेरी बहन को इसकी आदत न पड़ जाए!

What did you think of this story??

Click the links to read more stories from the category or similar stories about , ,

You may also like these sex stories

Download a PDF Copy of this Story

Comments

Scroll To Top