गैर मर्द से चूत चुदाई की कहानियाँ

अपने पति के अलावा किसी गैर मर्द से चूत चुदाई की कहानियाँ

Apne pati ke alawa kisi gair mard se chut chudai ki kahaniyan

Stories about sex relations of girls and ladies with a man not her husband

पाठिका संग मिलन-4

चेहरे, गले, कंधे पसीने की हल्की परत। इसे (रति के क्षणों में) चाटूंगा। यह पसीना अंदर स्तनों पर भी होगा? गोल गले की चोली। उभारों की शुरुआत के जरा सा नीचे काटती हुई।

पाठिका संग मिलन-3

उसने नमस्ते में हाथ जोड़े। मैंने अपने बढ़ रहे हाथों को रोका और नमस्ते में जोड़ लिया। मेरी कोशिश उसने देख ली और मुस्कुराकर हाथ बढ़ा दिया। उसे हाथ में लेते ही नीचे पैंट की चेन के पास धक धक हुई ... गर्म, कोमल हाथ।

पहले सेक्स का जबरदस्त मज़ा

एक बार मुझे मेरे किरायेदार अपने घर ले गए. वहां पर उनके छोटे भाई की पत्नी को मैंने आधी रात में रोते देखा. मैंने उनसे कारण पूछा तो उन्होंने कुछ नहीं बताया. लेकिन ...

पाठिका संग मिलन-2

पुरुष को भी सबसे अधिक आनन्द अपनी पत्नी को आनन्द लेते देखने में ही आता है। वह स्वयं सेक्स कर रहा हो तब भी पत्नी के रिस्पॉन्स से ही उसे संतोष होता है।

पड़ोसन के पति को फंसाकर चूत और गांड मरवायी

पति से कुछ होता नहीं था तो मैं एक पड़ोसी से चुदाई का मजा लेती थी. एक बार वो भी बाहर चला गया तो मेरी चूत में लंड की कमी पड़ गयी. मैएँ अपनी गर्म चूत के लिए लंड का जुगाड़ कैसे किया?

बंगलूरु की हसीना की मालिश और चुदाई

एक महिला की मालिश के लिए मैं बेंगलूरू गया. वो बहुत खूबसूरत थी. मेरा लंड उसकी चूत चुदाई के लिए उछल पड़ा पर मुझे सिर्फ मालिश करनी थी. फिर वहां क्या हुआ?

एक और अहिल्या-4

मैंने कांपते हाथों को स्थिर किया और वसुन्धरा की के पैरों के बीच जमीन पर पड़ा लहंगा ऊपर उठाना शुरू किया, उसकी जांघों के में पेंटी कुछ-कुछ गीली हो गयी दिख रही थी.

एक और अहिल्या-3

नाड़ा कटते ही लहँगा उसके पैरों में ऐसे गिरा जैसे किसी मूर्ति के अनावरण समारोह में मूर्ति का पर्दा नीचे गिरता है. वसुंधरा की केले के तने सी चिकनी दोनों टाँगें नंगी मेरे सामने थी.

जिस्म की आग बुझाई ज़िम वाले लड़के के साथ

मैं अपने शौहर से खुश नहीं थी, ना ही उसके डील डौल और चेहरे से और ना ही उसकी बिस्तर की कारगुजारी से ... तो मैंने क्या किया? मेरी एक सहेली ने भी मेरी मदद की. कैसे?

अनजान औरत के साथ ट्रेन में सेक्स का मजा

आगरा से कोलकाता ट्रेन में मेरे सामने बुर्का पहने एक औरत बैठी थी. उसने बुर्का उतारा तो मैं देखता ही रह गया, बहुत हसीन थी वो! उसके साथ मैंने सेक्स का मजा कैसे लिया!

अनजान भाभी की चुत और मेरा लंड

मुझे एक अनजान भाभी की चुत कैसे मिली? मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी, मैं चुत की तलाश में ऑनलाइन जुगाड़ ढूँढने लगा. एक दिन एक मेल आया और मेरी सेटिंग हो गयी.

खामोशी: द साईलेन्ट लव-8

उस रात जब उसने मुझे कॉन्डोम पहनने से मना किया तो मैं हैरान ही रह गया था. कहाँ वो मेरे लंड को अंदर लिये बिना ही गर्भ निरोधक गोली खा रही थी और कहाँ आज वो ...

पति के बिना घर में एक रात

मेरा पति अपने दोस्त की बीवी को चोदने उसके घर चला गया. तो मैं क्या करती ... मेरी चूत भी मचलने लगी, लंड मांगने लगी. मैंने अपनी प्यास बुझाने के लिए क्या किया?

खामोशी: द साईलेन्ट लव-2

पड़ोसन चाची की बेटी को मेरी बहन समान थी. पर एक रात अनायास उसके बदन के स्पर्श से मेरे मन में उसके लिए वासना की लहर उठ गयी. तब मैंने क्या किया?

पति का प्रमोशन-2

मेरे पति के बॉस की नजर मेरी जवानी पर थी, मुझे समझ आने लगा था कि मेरे पति अपने प्रमोशन के बदले मुझे अपने बॉस से चुदवाना चाहते थे. मेरी भी वासना भड़क उठी थी तो ...

खामोशी: द साईलेन्ट लव-1

पड़ोसन की बेटी के साथ मुझे उसके ससुराल जाना पड़ा. वहाँ मैं रुकना नहीं चाहता था पर उसकी खस्ता हालत देख मन पसीज गया और वहीं हमारे बीच कुछ नया शुरू हो गया. यह क्या था? कहानी में पढ़ें.

मोटे लंड की प्यासी चूत और मेरा चोदू बॉस-2

मेरे बॉस के मोटे लंड के दर्शन मुझे जब हुए तो मेरे मन के समंदर के अंदर खुशी की लहर उठने लगी. हम दोनों ने कैसे एक दूसरे की प्यास बुझाई, मेरी सेक्सी कहानी में पढ़ें.

पड़ोस का यार चोदे दमदार

मेरी कामवासना शादी से पहले से ही अधिक थी और पति का लंड मिला छोटा सा ... पड़ोस के अंकल की कामुक नजर मेरे ऊपर थी तो मैंने अपनी वासना की पूर्ति के लिए उन्हें ...

मेरी चुदासी मम्मी मेरे टीचर से चुद गई

मेरे पापा बीमार थे तो मेरी मम्मी की वासना पूर्ति नहीं होती थी. एक बार मैंने एक टीचर से ट्यूशन पढ़नी शुरू की और मम्मी और टीचर को मिलवाने की कोशिश की. तो क्या हुआ?

मेरी दीदी की नौकरों से चुदाई देखी

मेरी मामा की लड़की, मेरी दीदी की चुदाई मैंने अपनी आँखों से देखी। उस वक़्त मेरी उम्र 20 साल थी और वो 24 साल थी। वो मुझसे पूरी खुली हुई थी और स्वछंद जीवन जीती थी.

Scroll To Top