देसी सेक्स

देसी स्टाइल सेक्स, गाँव की देसी लड़की, भाभी आंटी की चुदाई की कहानियाँ
Desi Style sex, Village Girl, bhabhi, Aunty ke saath stories

On 2016-03-26 Category: Tags: , ,

मेरी बॉस कमाल की थी जवान सेक्सी… देखते ही मेरा खड़ा हो जाता था। मेरे अन्दर तो आग थी ही उसे चोदने की.. लेकिन मुझे ये नहीं मालूम था कि वो भी मुझसे चुदना चाहती है।

On 2016-03-25 Category: Tags: , ,

ट्रेन की यात्रा के शुरु में ही एक मां बेटी मिल गई। ट्रेन में बहुत भीड़ थी तो हमें सट कर बैठना पड़ा। लड़की से बातचीत होने लगी, दोस्ती हो गई… आगे की घटना कहानी में पढ़िये…

On 2013-08-24 Category: Tags: , ,

उसकी चूत बिल्कुल एक अनचुदी और अनछुई थी। चूत की दोनों फाँकें चिपकी हुई थीं। दरार के बीच में चने के दाने सा उभरा हुआ उसकी भगनासा, उसकी भगन को देख कर मुझे कमलगटा के बीज की याद आ जाती है जो हरे रँग का होता है.

On 2011-03-05 Category: Tags: , ,

ने जानबूझ कर साड़ी पहनी, फिर जब वो मुझे देख रहा था, मैंने पल्लू नीचे गिरा दिया अब उसकी आँखों के सामने मेरे दोनों बड़े बड़े खरबूजे आधे से ज्यादा ब्लाउज से फ़टे पड़ रहे थे।

On 2007-09-05 Category: Tags: , ,

प्यारे दोस्तो, यह मेरी पहली फ्री सेक्स कहानी है, उम्मीद करता हूँ कि आपको पसंद आएगी। वैसे तो मैंने कई चूतें फाड़ दी है लेकिन मुझे याद है वो पहली चुदाई जब मैंने रेहाना नाम की लड़की को चोदा वो मेरी पहली चुदाई थी। हमारे घर के बराबर वाले घर में तीन बहनें रहती थी […]

On 2004-02-09 Category: Tags: ,

हाय, मेरा नाम रणजीत है। मैं कोलेज में लास्ट ईयर में पड़ता था। मेरी उम्र 24 है। मैं बीच की छुट्टियों में मेरे गांव गया। गांव में हमारा बड़ा घर है। वहाँ मेरी मां और पापा रहते हैं। मेरे पापा एक बिल्डर है। मेरी मां हाउसवाइफ़, हम बहुत अमीर घराने से हैं हमारे घर में […]

On 2004-02-04 Category: Tags: , ,

यह स्टोरी एक महीने पुरानी है। हाय फ़्रेंड्स आई एम नील फ़्रोम भोपाल। आप लोगों ने मेरी कहानी चाची से प्यारा कौन पढ़ी। काफ़ी अच्छा रिस्पोंस आया अच्छा लगा। अब मैं आप लोगों को एक नयी कहानी बताने जा रहा हूँ। अब हम लोग भोपाल में ही शिफ़्ट हो गये थे। जैसा कि आप लोगों […]

On 2004-01-13 Category: Tags: , ,

ताऊ जी ने लगातार कई जोरदार झटके मार कर पूरे लण्ड को माँ के बुर में घुसा दिया तथा माँ की चूचियों को मसला। अब माँ को भी मजा आने लगा था।

On 2004-01-10 Category: Tags: , ,

उसने मेरी पेंट का बटन खोला और फिर ज़िप को खोलने लगी. मेरा लंड खड़ा हुआ था. वो मेरे लंड को सहलाने लगी और फिर मेरी आशा के विपरीत उसने मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी.

On 2002-11-04 Category: Tags: , ,

कहानी का पिछला भाग : दोस्त की माँ, बुआ और बहन की चुदाई-2 कुछ देर बाद होश आया तो मैंने उनके रसीले होंठों के चुम्बन लेकर उन्हें जगाया. माँ ने करवट लेकर मुझे अपने ऊपर से हटाया और मुझे अपनी बाहों मे कस कर कान मे फुस-फुसा कर बोली- बेटा तुमने और तुम्हारे मोटे, लम्बे […]

On 2002-11-04 Category: Tags: , ,

अपने दोस्त की मदद करने का ये सुनहरा मौका मिला कि अपने तो मजे ही मजे हो गए उधर दोस्त की माँ, इधर बुआ और आखिर में दोस्त की बहन की मदमस्त चुदाई का मौका मिला..

Scroll To Top