Latest Sex Stories

खड़े लण्ड की अजीब दास्ताँ-1

सेक्सी बीवी की गांड चुदाई के बाद मेरे लंड के साथ पता नहीं क्या हो गया कि वह हर वक्त खड़ा ही रहने लगा. लेडी डॉक्टर से सलाह ली तो वो मेरी स्कूल की क्लासमेट निकली.

शहरी लंड की प्यास गांव की भाभी ने बुझायी

बहुत दिन से मेरे लंड को चूत के दर्शन नहीं हुए थे. मैं मुट्ठ मार कर शांत कर लेता था अपने को मगर बेचैनी हर दिन बढ़ रही थी. अपनी वासना कैसे बुझाई मैंने, मेरी देसी कहानी में पढ़ें.

पड़ोसन के पति को फंसाकर चूत और गांड मरवायी

पति से कुछ होता नहीं था तो मैं एक पड़ोसी से चुदाई का मजा लेती थी. एक बार वो भी बाहर चला गया तो मेरी चूत में लंड की कमी पड़ गयी. मैएँ अपनी गर्म चूत के लिए लंड का जुगाड़ कैसे किया?

पहला नशा पहला मज़ा-2

मैंने देखा कि मेरी सहेली और उसकी बड़ी बहन अपनी जवानी की आग अपने बाप से चटवा या उंगली करवा के शांत करती थीं. मेरे जिस्म की गर्मी भी उफान पर थी तो ...

एक और अहिल्या-10

वसुन्धरा के नंगे, गर्म जवान जिस्म को पीछे से रगड़ कर मेरा नंगा जिस्म आग पैदा कर रहा था. मेरा गर्म लिंग उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसके नितम्बों की दरार पर रगड़ खा रहा था.

इस हसीन रात के लिए थेंक यू

जवान कुंवारी लड़की ... प्रथम सहवास की प्रबल इच्छा लिए रात को बिस्तर पर आ गयी थी सोने के लिये ... तभी उसके फोन पर एक मेसेज आया. किसका मेसेज था और क्या था उसमें!

बारिश की बूँदें और वो

मैंने किराये पर कमरा लिया. मकानमालिक की दो बेटियाँ थी. मैंने छोटी से दोस्ती करनी चाही तो वो बोली- लाइन किसी और पर मारना। फिर वो कैसे एक बारिश वाली रात में चुदी?

देसी भाभी का प्यार और सेक्स-1

यह कहानी मेरी और मेरे पड़ोस में रहने वाली एक देसी भाभी के साथ प्यार और सेक्स की है. वो भाभी मेरे से पर्दा करती थी. फिर कैसे मैं उसे चोद पाया? पढ़ें भाभी की चुदाई कहानी!

पहला नशा पहला मज़ा-1

हमारे मकान में दो लड़कियाँ अपने बाप के साथ किराये पर रहती थी. एक दिन मैंने उन दोनों को अपने बाप के साथ कमरे में नंगी देखा. मैंने क्या क्या देखा और फिर क्या किया?

एक और अहिल्या-9

मैंने आगे झुक कर वसुन्धरा के दाएं निप्पल को मुंह में लिया और उसे होंठों और जीभ से चुमलाने लगा. वो तत्काल मेरा सर अपने हाथों में ले अपने उरोजों पर दबाने लगी.

बैंक की नौकरी के लिए मेरा गैंगबैंग

किसी काम से मैं बैंक गयी तो मेरी क्लीवेज देख मेनेजर खुश हो गया, उससे मेरी दोस्ती हो गयी, मैं सभी काम के लिए सीधे मैनेजर के पास जाने लगी. एक बार बैंक में वेकेंसी निकली तो ...

सिनेमा हॉल में मस्ती गोदाम में चुदाई

मेरी मंगेतर पहले मेरी असिस्टेंट थी. मैंने उसे पटाया. विवाह से पहले हम चोरी छुपे खूब मिला कर मस्तियाँ मारा करते थे. इनमें से एक किस्सा कुछ ऐसा हुआ जो बताने लायक है.

कामुकता की इन्तेहा-17

मैं अपने यार और उसके दोस्त से जम कर चुद रही थी. दोनों ने मेरी चूत के साथ साथ मेरी गांड भी चोद चोद कर खुली कर दी थी. मेरी गांड में 2-3 उंगलियाँ एक साथ जा रही थी.

मेरी लेस्बियन पड़ोसन संग सेक्स का नंगा खेल

मैं मेरे पति से खुश हूँ मगर मेरी सेक्स की भूख घटने की जगह बहुत ज्यादा बढ़ गई. एक बार वे बाहर गए तो तीसरे दिन मैं वासना से पागल होने लगी. मेरी वासना कैसे ठण्डी हुई?

एक और अहिल्या-8

"ओ राज! मुद्दतों तड़पी ... बरसों सुलगी, मैं इस पल के लिए." कह कर वसुन्धरा ने अपने दोनों हाथों से मेरा सर नीचे कर के मेरा चेहरा चुंबनों से भर दिया.

दोस्त की विधवा माँ को चोदा

मेरे दोस्त के पापा नहीं थे. उसकी मम्मी घर में दूकान चलाती थी. जब मैं दोस्त के घर जाता तो आंटी मुझे देखती रहती थी. एक दिन मुझे उनके बूब्ज़ ब्लाउज में से दिख रहे थे तो ...

दूध में भांग मिला के नौकरानी के साथ सेक्स

हमारे घर की नौकरानी 40-42 साल की थी. एक बार वो मेरे घर में अकेली थी मेरे साथ. मेरे दिल में बेईमानी आ गयी और मैंने उसे चोदने का प्लान कर लिया. क्या किया मैंने?

ऑफिस रिसेप्शनिस्ट की सीलतोड़ चुदाई

मैं कोचिंग क्लासेज में पढ़ाता था. वहां बहुत कयामत खूबसूरत रिसेप्शनिस्ट आयी. मैं भी बांका आकर्षक युवा, छैला किस्म का लड़का हूँ. तो हमारी सेटिंग कैसे बनी और आगे की ...

मस्त जवानी मुझको पागल कर गयी

मैं जवान हो गयी और मेरी मस्त जवानी मुझको पागल कर गयी क्योंकि मैं हमेशा सेक्स के बारे में सोचती थी. मैं अपनी वासनापूर्ति के लिए मामा के बेटे को पटाकर उससे कैसे चुदी.

एक और अहिल्या-7

मैं कपड़े उतार खूंटी पर टांगने लगा तो खूँटी पर टंगा वसुन्धरा का नाईटगाउन नीचे गिरा और गाउन के नीचे टंगी कल की पहन कर उतारी हुई उसकी ब्रा और जाली वाली काली पेंटी नुमाया हो गयी.

Scroll To Top