समीर सक्सेना

नमस्कार दोस्तो, कैसे हो आप? मेरा नाम निखिल है, कानपुर का रहने वाला हूँ, अभी उच्च अध्ययन कर रहा हूँ। कॉलेज में मैं बहुत सी

मेरा नाम समीर है, यह कहानी मेरी और मेरी दीदी की है, कहानी एकदम सच्ची है। बात तब की है जब मैं दिल्ली अपनी मौसी

कहानी का पिछला भाग: सोनी दीदी की कामाग्नि-1 मैंने कहा- बस एक चीज दिखानी है आपको! और अपनी जींस नीचे कर दी. वो बोली- तुमने

मेरा नाम अंकित जैन है. मैं 24 वर्षीय हट्टा कट्टा नौजवान हूँ, इंदौर में रहता हूँ. मैंने इंजीनियरिंग की है. मेरा लौड़ा 8 इंच लम्बा

मैं पिछले दो सालों से अन्तर्वासना को रोज़ ही देखता हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, मैंने कई कहानियाँ पढ़ी हैं और आज मैं

दीदी, यह बात भी नहीं है, मुझे तो बड़ा ही मज़ा आया बहनचोद बनने में! मन तो कर रहा है कि बस अब सिर्फ़ अपनी चारू दीदी की जवानी का रस ही पीता रहूँ।

अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें

हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, सहमति बॉक्स को टिक करें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।

Scroll To Top